डेयरी फार्म व्यवसायः सवाल और जवाब

Share:


डेयरी फार्मिंग अध्ययन का एक विशाल क्षेत्र है जिसे सफल और लाभदायक बनाने के लिए पर्याप्त प्रयास करना पड़ता है। कोई भी व्यवसाय में स्थिरता उत्पन्न और  विकास के लिए लगातार निवेश करना पड़ता है उसके लिए अथाग परिश्रम करना पड़ता है। डेयरी फार्मिंग एक लाभदायकव्यवसाय है, डेयरी उद्योग में लाखों किसान ऐसे हैं  जहां से उनके पूर्वजों ने व्यवसाय की नींव रखी थी। वे अच्छी तरह से व्यापार की गुटों को जानते हैं, लेकिन डेयरी खेती के लगभग सभी पहलुओं में भी चुनौतियों का सामना करना पड़ता हैं। हमने आपके जैसे लगभग सभी किसानों द्वारा सामने आने वाले कुछ प्रश्नों को खींच लिया है, और साथ ही ऐसे उत्तर हैं जो आपके संदेह को दूर कर सकते हैं

1. आप किस पशु के साथ अपना डेयरी फार्म शुरू कर सकते हैं: गाय या भैंस?
डेरी व्यवसाय के लिए पशुओ का सही चुनाव बहुत आवश्यक हे इसमें कई सरे पहलु ध्यान में रखने पड़ते है।  भैंस गायो की तुलना में अधिक दूध का उत्पादन करती है हालांकि, भैंसों के दूध में फैट गायों के दूध से दोगुना है। यही कारण है कि स्थानीय बाजारों में किसानों भैंसों के दूध के जरिये ज्यादा पैसा कमाते है। 
जहां तक रोज बरोज़ दूध दोहने का प्रश्न  है तो गाय से आसानी से मिल्किंग मशीन का उपयोग करके दूध  निकाला जा सकता है जो की  भैंस के मामले में मुश्किल है। भैंस गायों की तुलना में ताकतवर और उनमे गाय के मुकाबले रोगप्रतिकारक शक्ति ज्यादा होती हे ईसलिये वह अधिक  महंगी हैं।
यह आप पर निर्भर करता है कि आप अपने व्यवसाय के लिए कौन से जानवरों का चयन करना चाहते हैं। कई किसान गायों और भैंस दोनों पसंद करते हैं, आप दोनों का चयन भी कर सकते हैं।

डेयरी व्यवसाय के लिए कौन सी भैंस अनुकूल है ?
आप अपने राज्य और वातावरण के अनुसार भैंस की नस्ल का चुनाव कर सकते हे।  कोनसी नस्ल अनुकूल हैं यह आप पर निर्भर करता है। भैंस का चुनाव करते समय उसकी  कीमत, दूध देने की क्षमता और दूसरे प्रबंधकीय तत्व ध्यान में रखना आवश्यक हैं। अधिकांश डेयरी किसान मुर्रा भैंस को पसंद करते हैं।
एक मुर्रा भैंस प्रतिदिन कितना दूध देता है ? दूध की मात्रा चारे का निवेश और रखरखाव पर निर्भर करता है। कोई भी मुर्रा भैंस प्रतिदिन (सुबह-शाम) औसतन 8 से 18 लीटर दूध देता है।


२  दूध निकलने का चक्र क्या है?
दूध निकलने का चक्र कुछ और नहीं है बल्कि भैंस द्वारा बछड़ा देने का चक्र है। स्तनपान चक्र उस समय होता है, जिसके दौरान गाय या भैंस गर्भवती होती है। दुग्ध चक्र की संख्या, गाय या भैंस ने एक बछड़ा को जन्म देने की संख्या को निर्धारित करता है।गाय और भैंस इस समय ज्यादा दूध का उत्पादन करती है। 


३  दूध निकलने का चक्र महत्वपूर्ण क्यों है?
स्तनपान कराने का समय उस समय होता है, जिसके दौरान दुग्ध पशुओं ने दूध का दूध छीन लिया और उनके बछड़ों को खिलवाड़ किया। इसलिए, लैक्टेशन चक्र शुरू करने और दुग्ध उत्पादन के लिए दुधारू जानवरों को प्राकृतिक या कृत्रिम रूप से प्रेरित किया जाना चाहिए। अपने दूसरे या तीसरे लैक्टेशन चक्र में पशु पसंदीदा हैं क्योंकि वे पहले से ही मातृत्व से परिचित हैं और अधिक, बेहतर गुणवत्ता के दूध का उत्पादन करते हैं। जिन जानवरों ने जन्म नहीं दिया है, उन्हें मातृत्व के अनुकूल होने के लिए समय लगता है जो कि दूध उत्पादन की अवधि घटाता है।


४. एक हीट चक्र यानि गर्भादान का चक्र क्या है ?
गर्मी चक्र वह समय होता है, जिसके दौरान गाय या भैंस फिर से गर्भवती होने के लिए तैयार है। एक गर्मी चक्र 12 से 24 घंटों के लिए रहता है, और इस अवधि के दौरान भैंस को सांड के साथ सहवास करवाया जाता है या फिर कृत्रिम गर्भादान कराया जाता है।
 

५. बछड़े को जन्म देने के कितने दिनों बाद भैंस फिर से गर्भादान के लिए तैयार हो जाता है ?
ऐसा बछड़े को जन्म देने के 6 से 7 सप्ताह के बाद हो सकता है। गर्भादान के वक्त की पहचान और जितनी जल्दी हो सके भैंस का गर्भाधान करवाना वो महत्वपूर्ण तत्व हैं जो डेयरी फार्म के व्यवसाय में सफलता को निर्धारित करती है। इससे भैंस के ज्यादा दिनों तक बिना दूध दिये रहने का वक्त घट जाएगा जिसे लंबा सूखा वक्त भी कहते हैं।

६. क्या भैंस दूध देने के दौरान पूरी अवधि तक एक समान मात्रा में दूध देती है ?
इसका जवाब है नहीं। दूध निकलने की पूरी प्रक्रिया में कुल दूध का उत्पादन ज्यादा महत्वपूर्ण होता है। एक उदाहरण लीजिए, एक भैंस बछड़ा देने के बाद 12 लीटर दूध प्रतिदिन देती है और तीसरे सप्ताह यह 14 लीटर प्रतिदिन देने लग जाए और उसके बाद यह धीरे-धीरे घट कर 12 लीटर पर आ जाए और उसके बाद लंबे समय के लिए उसी पर स्थिर हो जाए और धीरे-धीरे कम होते हुए बंद हो जाए।

निष्कर्ष
यदि आपको लगता है कि आपके प्रश्नों का उत्तर यहाँ अच्छी तरह से दिया गया है, और आप डेयरी फार्म प्रबंधन सॉफ्टवेयर के बारे में अधिक जानकरि लेना चाहते हो तो यहाँ क्लिक करे 
www.promptdairytech.com

No comments